ISI की भारत विरोधी साजिश, डालना चाहता है सिखों और हिन्दुओं के बीच दरार?

ISI की भारत विरोधी साजिश, डालना चाहता है सिखों और हिन्दुओं के बीच दरार?

बड़ी संख्या में हिन्दू अनुयायी गुरुनानक जयंती पर पाक जाना चाहते हैं। हर साल ऐसा होता है। पाकिस्तान जाने के लिए करीब सवा तीन हजार लोगों ने वीजा के लिए आवेदन किया। प्रोटोकडल समझौते के तहत सिर्फ 2500 वीजा ही जारी किए जाएंगे।

पाकिस्तान भारत विरोधी एक और साजिश में जुटा है। पाकिस्तान हिन्दओं और सिख के बीच दरार डालने की साजिश रच रहा है। सिख जत्थों के साथ यात्रा के लिए हिन्दुओं को वीजा नहीं मिल रहा है। सिख समूहों ने दिल्ली में पाक उच्चायुक्त पर आरोप लगाया। हिन्दू श्रद्धालु गुरुनानक जयंती पर पाक जाना चाहते। टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए भाई मर्दाना यादगरी कीर्तन दरबार सोसाइटी के अध्यक्ष हरपाल सिंह भुल्लर ने कहा कि हिंदू अनुयायी पिछले कई महीनों से बड़ी संख्या में पड़ोसी मुल्क के सिख मंदिरों के दर्शन के लिए वीजा अप्लाई कर रहे हैं लेकिन हर बार उन्हें किसी कारणवश इनकार कर दिया जाता है।

आईएसआई की भारत विरोधी साजिश?

बड़ी संख्या में हिन्दू अनुयायी गुरुनानक जयंती पर पाक जाना चाहते हैं। हर साल ऐसा होता है। पाकिस्तान जाने के लिए करीब सवा तीन हजार लोगों ने वीजा के लिए आवेदन किया। प्रोटोकडल समझौते के तहत सिर्फ 2500 वीजा ही जारी किए जाएंगे। हिन्दुओं को वीजा देने से इनकार करना आईएसआई की भारत विरोधी साजिश का हिस्सा हैं।

 हिंदुओं के नाम वीजा सूची में से काट दिए जाते हैं

बता दें कि देश के विभाजन के बाद नेहरू-अली समझौता के तहत हर वर्ष अलग-अलग सिख धार्मिक पर्वों पर 3000 श्रद्धालुओं को पाकिस्तान में धार्मिक स्थानों के दर्शन करने के लिए वीजा देने का समझौता हुआ था। लेकिन अब 2400 से लेकर 2600 तक श्रद्धालु ही पाकिस्तान जा पा रहे है। बड़ी संख्या में हिन्दू अनुयायी सिख तीर्थस्थल में पूजा के लिए वीजा के लिए अप्लाई करते हैं। बहुत सारे हिंदू श्रद्धालुाओं के नाम वीजा सूची में से काट दिए जाते हैं। पाकिस्तानी दूतावास पिछले पांच व छह वर्षों से ये कारस्तानी कर रहा है। आईएसआई ने हिन्दुओं और सिख के बीच शुरू से दरार डालने का काम किया है। खालिस्तान को बढ़ावा इसी का हिस्सा है।