50 टन का सेगमेंट तेज आवाज के साथ दिल्ली-मेरठ हाईवे पर गिरा

 क्लू टाइम्स, सुरेन्द्र कुमार गुप्ता। 9837117141

गोविंदपुरी में क्रेन का तार टूटने से नीचे गिरा सेगमेंट

मोदीनगर। गोविंदपुरी क्षेत्र में रैपिड ट्रेन के लिए वायडक्ट का निर्माण कार्य करते वक्त मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया। वायडक्ट के लिए सेगमेंट को लिफ्ट कर ऊपर ले जाते वक्त क्रेन का तार टूट गया। 50 टन का सेगमेंट तेज आवाज के साथ दिल्ली-मेरठ हाईवे पर गिरा तो लोग सहम गए।



गनीमत रही कि सेगमेंट हाईवे पर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (एनसीआरटीसी) द्वारा बैरिकेड किए गए हिस्से में गिरा, बाहर गिरता तो वाहन भी उसकी चपेट में आ जाते।

2025 तक पूरे कारिडोर का होगा निर्माण

इन दिनों रैपिड ट्रेन के लिए वायडक्ट का निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है। 2023 में रैपिड ट्रेन का संचालन साहिबाबाद से दुहाई के बीच मे होना संभावित है। इसके बाद 2024 में साहिबाबाद से मोदीनगर तक और 2025 में सराय काले खां से मेरठ तक रैपिड ट्रेन का संचालन होना है।

प्राथमिक खंड में साहिबाबाद से गाजियाबाद तक वायडक्ट का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। इस समय ट्रैक बिछाने का कार्य किया जा रहा है। दुहाई से मोदीनगर के बीच मे वायडक्ट का निर्माण कार्य भी रफ्तार पकड़ चुका है। मंगलवार को गोविंदपुरी क्षेत्र में वायडक्ट बनाने के लिए दो पिलर के बीच मे सेगमेंट स्थापित किया जा रहा था।

शाम को एनसीआरटीसी की तकनीकी टीम सेगमेंट को क्रेन के सहारे ऊपर ले जा रही थी। इसी दौरान क्रेन का तार टूटने से सेगमेंट ऊंचाई से नीचे आ गिरा। प्रत्यक्षदर्शी आकाश शर्मा ने बताया कि सेगमेंट के जमीन पर गिरने पर बहुत तेज आवाज हुई। लगा भूकंप आ गया हो। एक कार हादसे की चपेट में आने से बाल-बाल बची।

एनसीआरटीसी के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पुनीत वत्स का कहना है कि सेगमेंट को ऊपर चढ़ाने का काम नहीं किया जा रहा था। हाल ही में लगाई गई क्रेन के वजन उठाने की क्षमता को चेक किया जा रहा था। टेस्टिंग के दौरान ऐसा हुआ है।