क्या सच में भारत में कोरोना के नए वैरिएंट XE ने दी दस्तक? जानें दावे की हकीकत

क्लू टाइम्स, सुरेन्द्र कुमार गुप्ता। 9837117141

क्या सच में भारत में कोरोना के नए वैरिएंट XE ने दी दस्तक? जानें दावे की हकीकत

शहर के नागरिक निकाय बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने एक मीडिया विज्ञप्ति में कहा कि मुंबई में कोरोना वायरस के नए एक्सई वेरिएंट के एक मामले का पता चला है। हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के करीबी सूत्रों ने कहा कि मरीज के नमूने की जीनोम अनुक्रमण एक्सई वेरिएंट की उपस्थिति का संकेत नहीं देता है।

यूके में एक्सई नामक एक नया कोविड -19 वेरिएंट पाया गया है, जो ओमिक्रॉन के  दो स्ट्रेन्स BA.1 और BA.2 को मिलकर बना है। शुरुआती संकेत बताते हैं कि ये ओमिक्रॉन वेरिएंट की तुलना में लगभग 10 प्रतिशत अधिक संक्रमणीय हो सकता है। वहीं मुंबई को लेकर खबर आई कि इस वेरिएंट का एक केस की पुष्टी हुई है। लेकिन अब आधिकारिक सूत्रों ने दावा किया है कि मुंबई में पाए गए केस की नए एक्सई वेरिएंट के रूप में पुष्टि नहीं हुई है। शहर के नागरिक निकाय बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने एक मीडिया विज्ञप्ति में कहा कि मुंबई में कोरोना वायरस के नए एक्सई वेरिएंट के एक मामले का पता चला है। हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के करीबी सूत्रों ने कहा कि मरीज के नमूने की जीनोम सीक्वेंसिंग एक्सई वेरिएंट की उपस्थिति का संकेत नहीं देता है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने मरीज के नमूने में एक्सई वैरिएंट की मौजूदगी से इनकार किया है। "नमूने के संबंध में एक्सई' वेरिएंट कहे जाने वाले फास्ट क्यू का विश्लेषण INSACOG के जीनोमिक विशेषज्ञों द्वारा किया। जिसके बादअनुमान लगाया है कि इस संस्करण का जीनोमिक संविधान 'एक्सई' वेरिएंट की जीनोमिक से संबंधित नहीं है। बता दें कि 50 वर्षीय महिला, पेशे से कॉस्ट्यूम डिजाइनर है। वह 10 फरवरी, 2022 को दक्षिण अफ्रीका से आई थी। महिला ने वैक्सीन की दोनों खुराक ले रखी थी। देश में आने के बाद उनकी कोरोना की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई थी, लेकिन 2 मार्च को नियमित परीक्षण के दौरान जब उनकी कोरोना जांच हुई तो वह पॉजिटिव पाई गईं।

एक्सई वेरिएंट के बारे में 5 जानने योग्य बातें

ओमीक्रोन बीए.1 और बीए.2 वेरिएंट का मिक्स वेरिएंट है।

इस तरह का एक वेरिएंट डेल्टाक्रोन भी सामने आ चुका है।

डब्ल्यूएचओ ने इस नए वेरिएंट को चिंताजनक बताया है।

अभी तक एक्सई वेरिएंट की पहचान सिर्फ ब्रिटेन में ही हुई है।

एक रिपोर्ट के अनुसार यह अपने मूल वेरिएंट ओमीक्रोन से 10 गुना ज्यादा संक्रामक है।