UNSC में रूस वीटो का इस्तेमाल करता रहेगा, अमेरिका ने दिया बड़ा बयान

क्लू टाइम्स, सुरेन्द्र कुमार गुप्ता। 9837117141UNSC में रूस वीटो का इस्तेमाल करता रहेगा, अमेरिका ने दिया बड़ा बयान

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा कि, यूएनएससी में रूस अपने ‘वीटो’ का इस्तेमाल करता रहेगा।यूक्रेन में अत्याचारों के लिए रूस को जवाबदेह ठहराने की कोशिश के दौरान यूएनएससी के समक्ष पेश होने वाली चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा,‘‘जहां तक जवाबदेह ठहराने का सवाल है,अतीत में भी इसके रचनात्मक समाधान निकाले गए हैं।

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा कि यूक्रेन पर आक्रमण से संबंधित मुद्दों पर रूस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में अपने ‘वीटो’ का इस्तेमाल करना आगे भी जारी रखेगा। सुलिवन ने सोमवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा, ‘‘चूंकि, रूस यूएनएससी का स्थायी सदस्य है, इसलिए यह कल्पना करना कठिन होगा कि वह किसी भी कार्रवाई को रोकने के लिए अपनी वीटो शक्ति का इस्तेमाल करने की कोशिश नहीं करेगा।’’ यूक्रेन में अत्याचारों के लिए रूस को जवाबदेह ठहराने की कोशिश के दौरान यूएनएससी के समक्ष पेश होने वाली चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक जवाबदेह ठहराने का सवाल है, अतीत में भी इसके रचनात्मक समाधान निकाले गए हैं। हालांकि, मैं यह अनुमान नहीं लगाने जा रहा हूं कि यहां कौन-सा समाधान काम करेगा या कौन-सा मंच इस मुद्दे को उठाने के लिए सही है।’’


सुलिवन ने जोर दिया कि इन युद्ध अपराधों की जवाबदेही तय की जानी चाहिए। साथ ही, उन्होंने आश्वासन दिया कि यूक्रेन में रूस द्वारा किए गए अपराधों के लिए उसकी जवाबदेही सुनिश्चित करने की दिशा में अमेरिका दुनिया के साथ मिलकर काम करेगा। उन्होंने कहा, ‘‘हम पहले ही इस निष्कर्ष पर पहुंच चुके हैं कि रूस ने यूक्रेन में युद्ध अपराधों को अंजाम दिया है और बुशा में सामने आया मंजर उसी का सबूत है। जैसा कि राष्ट्रपति (जो बाइडन) ने कहा है, हम इन अपराधों की पूरी जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए दुनिया के साथ मिलकर काम करेंगे।’’

अमेरिकी प्रशासन रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और रूस पर दबाव बढ़ाने के लिए अपने यूरोपीय सहयोगियों के साथ मिलकर उस पर और प्रतिबंधों लगाने को लेकर भी काम कर रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार सुबह पत्रकारों से कहा कि उनके रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन एक ‘युद्ध अपराधी’ हैं। उन्होंने डेलावेयर स्थित अपने घर पहुंचने के बाद कहा, ‘‘आपको याद होगा कि पुतिन को एक युद्ध अपराधी की संज्ञा देने के लिए मेरी आलोचना की गई थी। हालांकि, सच क्या यह है यह बुशा में आपने देख ही लिया है। वह एक युद्ध अपराधी हैं।’’ यह दोहराते हुए कि पुतिन को ‘जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए’, बाइडन ने कहा कि वह रूस के खिलाफ और कड़े प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे हैं। गौरतलब है कि बुशा यूक्रेन की राजधानी कीव के आसपास बसे कस्बों में से एक है, जहां पर यूक्रेन के अधिकारियों ने रूसी सेना के हटने के बाद बड़ी संख्या में आम नागरिकों के शवों को बरामद किया है।