भारत-चीन बॉर्डर पर ड्रैगन की नई चाल, LAC के पास लगाए मोबाइल टावर

क्लू टाइम्स, सुरेन्द्र कुमार गुप्ता। 9837117141


नई दिल्ली: 
शातिर चीन अपनी चालबाजी से बाज नहीं आ रहा है। चीन ने एलएसी (LAC) के पास हॉट स्पिंग इलाके में तीन मोबाइल टावर लगा लिए हैं। बताया जा रहा है कि ये मोबाइल टॉवर चीनी सेना को तो फायदा पहुंचाएंगे ही, साथ ही उसकी जासूसी में भी बहुत मददगार साबित होने वाले हैं।  चीन ने पैंगोंग झील (Pangong Lake) पर पुल का काम खत्म करने के बाद हॉट स्प्रिंग इलाके में ये तीन टावर लगाए हैं। ये जगह भारत के काफी करीब है।

लद्दाख स्वायत्त पहाड़ी विकास परिषद लेह के चुगुल से पार्षद कोंचोक स्टैंजिन ने मोबाइल टॉवर तस्वीरें शेयर करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है ‘पैंगोंग झील पर पुल बनाने का काम पूरा हो गया है, चीन ने चीनी हॉट स्प्रिंग के पास, भारतीय क्षेत्र के बेहद करीब तीन मोबाइल टावर लगाए हैं। क्या ये चिंता की बात नहीं है? जहां लोग रहते हैं, उन गांवों में हमारे पास 4जी सुविधाएं भी नहीं हैं। मेरे निर्वाचन क्षेत्र में 11 गावों में 4जी सुविधा नहीं है।’ इस इलाके से पैंगोंग झील के उस पार चीन की गतिविधियां सामने नजर आती हैं।

चीन द्वारा यकीनन भारतीय सीमा के पास लगाए गए यह 3 मोबाइल टावर किसी बड़ी योजना का हिस्सा हो सकते हैं। इससे एक बात तो बेहद साफ है योई चीन भारतीय सीमा के पास अपने संचार तंत्र को मजबूत करने की कोशिश कर रहा है, जिससे उन इलाकों में वह अपनी सेना और अन्य के लिए बेहतर संचार सुविधा स्थापित कर सके।

आपको बता दें कि चीन ने भारतीय सीमा से लगे इलाकों में अबतक 624 बाईब्रिड गांव भी बसा लिए हैं। इन गांवों में उन हानों को लाकर बसाया गया है, जो परिवार के साथ भले ही रहते हैं, लेकिन जरूरत पड़ने पर मिलिटरी ऑपरेशंस को भी अंजाम दे रहे हैं। इनमें से अधिकतर लोगों को सैन्य प्रशिक्षण और जासूसी के लिए भी जरूरी ट्रेनिंग मिली हुई है।