शत्रु संपत्ति के मामले में लोगों की नींद उड़ी

 क्लू टाइम्स, सुरेन्द्र कुमार गुप्ता। 9837117141

बढ़ रही बेचैनी, गृह मंत्रालय जाएंगे सीकरी खुर्द व कालोनियों के लोग

मोदीनगर: शत्रु संपत्ति के मामले में लोगों की नींद उड़ी हुई है। अपनी संपत्ति बचाने को लेकर वे हर संभव कोशिश कर रहे हैं। इस मामले में ग्रामीणों ने अब गृह मंत्रालय जाने का मन बनाया है। सोमवार को ग्रामीण व कालोनी के लोग इस मामले में एडीएम ऋतु सुहास से भी मिले थे। लेकिन उनके स्तर से कोई राहत नहीं मिलने पर ग्रामीणों ने यह निर्णय लिया। एडीएम ने ग्रामीणों को गृह मंत्रालय जाकर अपनी समस्या वहां के अधिकारियों को बताने की सलाह दी थी। जिन लोगों ने जमीन को कालोनियों में प्रोपर्टी डीलरों से खरीदा है, लोग उन प्रोपर्टी डीलरों से अपना पैसा वापस करने की मांग कर रहे हैं। प्लाट, फ्लैट के खरीदार आरोप लगा रहे हैं कि उनके साथ प्रोपर्टी डीलरों ने छल किया है। उधर, प्रशासन शत्रु संपत्ति पर कब्जा लेने की तैयारी में जुट गया है। सबसे पहले प्रशासन के निशाने पर जमीन के बड़े भू-भाग हैं। इसमें सबसे ज्यादा नुकसान प्रोपर्टी डीलरों को होता दिख रहा है।

-धड़ाम हुए संपत्ति के भाव:

सीकरी खुर्द गांव के आसपास कालोनियां तेजी से विकसित हो रही थीं। इनमें प्लाट,फ्लैट लगातार बिक रहे थे। लेकिन जब से 1800 बीघा जमीन शत्रु संपत्ति घोषित हुई है तब से यहां बैनामे बंद हो गए हैं। जिन लोगों ने प्लाट, फ्लैट बुक किए थे, उन्होंने अपना प्लान अब बदल दिया है और वे पेशगी में दी हुई रकम प्रोपर्टी डीलर से वापस मांग कर रहे हैं। खरीदार न होने से यहां प्रोपर्टी के भाव धड़ाम हो गए हैं। फिलहाल लोगों को निकलने का रास्ता दिखाई नहीं दे रहा है।

-डीएम से मिलीं विधायक डा. मंजू शिवाच:

विधायक डा. मंजू शिवाच की अगुवाई में चेयरमैन अशोक माहेश्वरी, ब्लाक प्रमुख सुचेता सिंह, पूर्व सांसद प्रतिनिधि नीरज त्यागी मंगलवार को डीएम राकेश कुमार सिंह से उनके कार्यालय में मिलने पहुंचे। उन्होंने डीएम से कहा कि शत्रु संपत्ति के मामले में ग्रामीणों व स्थानीय निवासियों का नुकसान नहीं होना चाहिए। जो लोग कई कई पीढि़यों से गांव में रहते आ रहे हैं। दशकों से जो लोग अपना मकान बनाकर कालोनियों में रह रहे हैं। उनको परेशान नहीं किया जाना चाहिए। इस प्रकरण में डीएम ने जांच कराकर कुछ भी अनुचित नहीं होने देने का आश्वासन दिया।