लॉयन्स क्लब ने अखिल भारतीय ध्यान योग संस्थान के सहयोग से किया ध्यानयोग कार्यशाला का आयोजन




योग शरीर,मन और भावनाओं का शोधन करता है- योग मर्मज्ञ देवेन्द्र हितकारी

अपने आपे में आने से आनन्द की अनुभूति होती है- प्रमिला सिंह

नियमित योगाभ्यास से स्वस्थ रहने की गारंटी है- डा वीरपाल विद्यालंकार

गाजियाबाद,रविवार,06/03/2022 को लॉयन्स क्लब गाजियाबाद ने अखिल भारतीय ध्यान योग संस्थान के सहयोग से ध्यानयोग कार्यशाला का आयोजन लायंस क्लब ऑडिटोरियम,कवि नगर में किया गया,सत्र का शुभारम्भ श्री सुभाष गर्ग ने ओ३म की ध्वनि व गायत्री मंत्र से किया।

योग मर्मज्ञ व सांसद प्रतिनिधि देवेन्द्र हितकारी ने कहा कि योग शरीर,मन और भावनाओं का शोधन करता है।योग बेहतर जीवन जीने और स्वस्थ रहने की कला के साथ सकारात्मक सोच बढ़ाने और जीवन को अनुशासित करने का माध्यम है। योग से बच्चों की इम्युनिटी के साथ उनकी स्मरण शक्ति को भी बढ़ाया जा सकता है।उन्होंने प्राणायाम का अभ्यास करवाते हुए बताया कि शरीर का सर्वाधिक 70 प्रतिशत शोधन श्वांस के जरिए होता है इसलिए हमें अपने श्वांसों को सही रखना चाहिए।यह प्राणायाम से होता है। योग व प्राणायाम से शरीर की 72 हजार नस नाड़ियां सक्रिय हो जाती हैं और हमारे शरीर से टॉक्सिन बाहर निकलता है।

संस्थान के अध्यक्ष के.के.अरोड़ा ने कहा कि बिना आहार परिवर्तन किए योग करना बेकार है।हमें सम्यक आहार करना चाहिए। सम्यक आहार का तात्पर्य कार्बोडाइड्रेड,प्रोटीन व वसा का सही अनुपात है।उन्होंने भोजन को खूब चबाकर करने,भोजन से पूर्व एक प्लेट सलाद खाने, म अर्थात मैदा,मक्खन,मीट,मिठाई आदि से दूर रहने,ठोस भोजन दिन में सिर्फ तीन बार लेने और सप्ताह में एक दिन उपवास रखने की सलाह दी।

डा वीरपाल विद्यलाकर ने कहा कि नियमित योग का अभ्यास स्वस्थ रहने की गारंटी है।योग से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और योग हमें बीमारियों से बचाता है।

संस्थान के वरिष्ठ उपाध्यक्ष    अशोक शास्त्री ने सिंह गर्जना और हास्य आसन का अभ्यास कराते हुए कहा कि सिंह गर्जना से थायरायड कंट्रोल में रहता है और खुलकर हंसने से चेहरे पर प्रसन्नता बनी रहती है। 

संस्थान की वरिष्ठ उपाध्यक्ष   श्रीमती प्रमिला जी ने कार्यशाला में शिविरार्थीओ को सूक्ष्म व्यायाम,वीरेचन क्रिया का अभ्यास कराया और इसके लाभों की चर्चा की और कहा कि स्वयं के साथ जुड़ जाना ही योग है,अपने आपे में आने से आनन्द की अनुभूति होती है।योग करने से बुद्धि विकसित होती है, हास्यासन से खुश रहते हैं,जहां ऑक्सीजन ज्यादा हो वहां प्राणायाम का अभ्यास करने से प्राण शक्ति बढ़ती है,लंग्स, डायाफ्राम मजबूत होते हैं।

लायंस क्लब के अध्यक्ष सीए संदीप गोयल ने अखिल भारतीय ध्यान योग संस्थान के पदाधिकारियों और योग शिक्षकों का स्वागत करते हुए कहा कि शिविर से जनमानस में योग के प्रति उत्साह का संचार होगा। 

सीए योगेश कंसल ने बताया कि लांयस कल्ब के सहयोग से संचालित आई हॉस्पिटल में हर माह डेढ़ हजार से अधिक मोतियाबिंद के आपरेशन निःशुल्क किए जाते हैं। 

सर्राफा एसोसिएशन के संरक्षक राजकिशोर गुप्ता ने भी विचार व्यक्त किए।मनमोहन वोहरा ने ध्यान का अभ्यास कराया। 

मीडिया प्रभारी प्रवीण आर्य ने बताया कि शिविर में साधकों को विभिन्न योगासनों और ध्यान आदि का अभ्यास करवा कर योग के गूढ़ रहस्यों की जानकारी दी गई।

इस अवसर पर मुख्य रूप से सर्वश्री सचिव लॉ संजीव गर्ग, कोषाध्यक्ष सीए लॉ नवेंदु गर्ग,पूर्व अध्यक्ष जीवेंद्र गुप्ता,दीपक कांत गुप्ता,अनामिका गोयल,रचना अग्रवाल,नवनीत गर्ग,सनी जैन, अमित जैन,गौरव सिंघल,संदीप जिंदल,प्रशांत गुप्ता,अरुण जिंदल,हरिओंम सिंह,प्रदीप त्यागी,राम भरोसे शर्मा,गुलशन भमरी एवं मंगल सिंह आदि मौजूद रहे।

मंच का कुशल संचालन श्री प्रदीप त्यागी ने किया उन्होंने कहा कि योग हमारे मन मस्तिष्क को ठीक करता है,इससे हम तनाव मुक्त रहते हैं।

संस्थान की महिला प्रकोष्ठ की वरिष्ठ योग शिक्षिका श्रीमती वीना वोहरा,मीता खन्ना एवं प्रभा सिंघल आदि ने वैदिक प्रार्थना व शांतिपाठ के साथ कार्यक्रम सम्पन्न कराया।


भवदीय,

प्रवीण आर्य,

मीडिया प्रभारी,

9911404423,9716950820