PM मोदी के आदेश पर नहीं बढ़ाया टैक्स, क्रिप्टो करेंसी के हर लेन-देन पर हमारी नजर: वित्त मंत्री

 PM मोदी के आदेश पर नहीं बढ़ाया टैक्स, क्रिप्टो करेंसी के हर लेन-देन पर हमारी नजर: वित्त मंत्री

प्रतिरूप फोटो

डिजिटल रूपया के विषय पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि आरबीआई एक डिजिटल मुद्रा जारी करेगा। इसके बाहर जो कुछ भी प्रचलित है वह व्यक्तियों द्वारा बनाई गई संपत्ति है और हम उन संपत्तियों के लेनदेन से होने वाले मुनाफे पर 30% कर लगा रहे हैं।

नयी दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को बजट पेश करने के बाद मीडियाकर्मियों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमने टैक्स नहीं बढ़ाया। एक भी पैसा अतिरिक्त टैक्स के द्वारा कमाने की कोशिश नहीं की। पिछली बार प्रधानमंत्री का आदेश था कि घाटा कितना भी हो, महामारी में जनता पर टैक्स का बोझ नहीं डालना। इस बार भी वही निर्देश थे। 

टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं

इस बार टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है। हालांकि, टैक्स रिटर्न में अगर कोई गलती हो जाती है तो उसे बाद में सुधारा जा सकता है। अगर करदाता से सलाना आय की घोषणा करने में कोई गलती हो जाती है तो वह इसे 2 साल में सुधार सकता है।

वहीं डिजिटल रूपया के विषय पर वित्त मंत्री ने बताया कि आरबीआई एक डिजिटल मुद्रा जारी करेगा। इसके बाहर जो कुछ भी प्रचलित है वह व्यक्तियों द्वारा बनाई गई संपत्ति है और हम उन संपत्तियों के लेनदेन से होने वाले मुनाफे पर 30% कर लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम हर ट्रांजैक्शन पर 1 फीसदी टीडीएस लगाकर उसमें (क्रिप्टो करेंसी) पैसे के हर लेन-देन पर भी नज़र रख रहे हैं। निर्मला सीतारमण ने कहा कि अभी क्रिप्टो और क्रिप्टो संपत्ति क्या हैं ? इस पर कोई चर्चा नहीं होगी। हितधारकों के साथ विचार-विमर्श चल रहा है। डिजिटल एसेट्स का विवरण परामर्श के बाद आएगा।

बेरोजगारी और महंगाई के मुद्दों पर उन्होंने कहा कि हम इन मुद्दों से निपटने के लिए कई कदम उठा रहे हैं। हमारी सरकार ने महंगाई को दहाई के आंकड़े तक नहीं पहुंचने दिया है। हां, इसने एक महीने के लिए 6 फीसदी की सीमा को तोड़ा लेकिन इसे कभी भी पार नहीं किया। हालांकि, 2014 से पहले यह हमेशा 10,11,12,13 के दायरे में था।