ब्राह्मणों में रोष ! भाजपा प्रत्याशी रामकेश नें ब्राह्मण पत्रकारों पर लगाया फर्जी रंगदारी का मुकदमा

ब्राह्मणों में रोष ! भाजपा प्रत्याशी रामकेश नें ब्राह्मण पत्रकारों पर लगाया फर्जी रंगदारी का मुकदमा

जिलाध्यक्ष रामकेश निषाद नें ब्राह्मण पत्रकारों (पिता-पुत्र) पर पांच लाख की रंगदारी मांगने, न देने पर जान से मारने की धमकी की रिपोर्ट दर्ज करा दी। जिसके चलते भाजपा पर ब्राह्मण विरोधी होने की एक और रगंभीर मोहर लगा दी है।

बांदा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का ब्राह्मणों के खिलाफ उन पर रंगदारी वसूलने के झूठे मामले में फ़साने का मामला सामने आया हैं। यह मामला बांदा जिले का हैं। जहां भाजपा जिलाध्यक्ष रामकेश निषाद जो विधानसभा चुनाव में तिंदवारी विधानसभा से पार्टी के प्रत्याशी भी बनाए गए हैं। उन्होंने मीडिया की अभिव्यक्ति पर हमला बोला हैं। एक सोशल समाचार पत्र के संपादक शरद चंद्र मिश्रा एवं उनके पिता वरिष्ठ पत्रकार एवं प्रेस क्लब के महामंत्री विनोद मिश्रा के विरुद्ध खिलाफ समाचार छापने सहित पांच लाख रुपए की रंगदारी मांगने और न देने पर जान से मार डालने आदि का मिथ्या आरोप एवं जिलाध्यक्ष पद का दुरुपयोग कर मुकदमा पंजीकृत करा दिया। जबकि खबरें कई पत्रों में छपी।  

रामकेश निषाद की जिलाध्यक्ष के रूप में कार्य प्रणाली पर सवालिया एवं विस्मयकारी व्याकरणनीय नियमों के तहत खबरों ने प्रदेश आलाकमान को सचेत किया था। खबर का उद्देश्य किसी को व्यक्तिगत बदनाम करने का कदापि नहीं था। बावजूद इसके जिलाध्यक्ष रामकेश निषाद नें पद का दुरुपयोग कर ब्राह्मण पत्रकारों (पिता-पुत्र) पर पांच लाख की रंगदारी मांगने, न देने पर जान से मारने की धमकी की रिपोर्ट दर्ज करा दी। जिसके चलते भाजपा पर ब्राह्मण विरोधी होने की एक और रगंभीर मोहर लगा दी है। पूरे प्रदेश में इसकी सर्वत्र आलोचना हो रही हैं। भाजपा को इस प्रकरण से जबर्दस्त चुनावी नुकसान हो सकता हैं।