ओलंपिक के बीच चीन का कहर, वियतनाम सीमा के पास 35 लाख लोगों को किया जेल में बंद

ओलंपिक के बीच चीन का कहर, वियतनाम सीमा के पास 35 लाख लोगों को किया जेल में बंद

शी जिनपिंग की सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देश की जनता पर काबू करने की कोशिश कर रही है। कोरोना के नाम पर चीन ने वियतनाम की सीमा पर स्थिति एक शहर में करीब 35 लाख लोगों को अत्यधिक सख्त लॉकडाउन में बंद कर दिया है।

चीन की राजधानी बीजिंग में शीतकालीन ओलंपिक की शुरूआत हो चुकी है। इसी बीच चीन की सरकार ने अपनी जनता पर खतरनाक अत्याचार करना शुरू कर दिया है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के लोग अपने ही देश में रहने से डर रहे है और उनका जीना मुहाल हो गया है। शी जिनपिंग की सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देश की जनता पर काबू करने की कोशिश कर रही है। कोरोना के नाम पर चीन ने वियतनाम की सीमा पर स्थिति एक शहर में करीब 35 लाख लोगों को अत्यधिक सख्त लॉकडाउन में बंद कर दिया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोई भी अपने घर से बाहर नहीं निकल सकता हैं। इस शहर में 70 कोरोना मरीजों के मिलने के बाद चीन की सरकार ने दुनिया का सबसे सख्त लॉकडाउन लगाया है। दक्षिणी गुआंग्शी क्षेत्र के लगभग 22 शहरों में काफी सख्त लॉकडाउन लगाया गया है। वहीं चीन की सरकार जीरो कोविड पॉलिसी को हटाने का नाम ही नहीं ले रहे है। दक्षिणी गुआंग्शी क्षेत्र के अधिकारियों ने इस सख्त लॉकडाउन की घोषणा करते हुए कहा कि, कोई भी लोग अपने घर से नहीं निकलेंगे और न ही किसी को शहर से बाहर जाने की इजाजत होगी।

इतनी सख्ती का कारण?

इतनी सख्ती बढ़ाने को लेकर दक्षिणी गुआंग्शी क्षेत्र के उप-महापौर गु जुनयान ने कहा कि, शहर में यातायात नियंत्रण लागू कर दिया गया है और किसी को भी शहर के बाहर कार निकालने की इजाजत नहीं होगी। वहीं बाहर को लोग भी शहर के अंदर नहीं आ सकते है। कर्मचारियों को लोगों को काबू करने के आदेश जारी कर दिए गए है। इस घरेलू कारावास में बंद लोगों का साथ काफी अत्याचार हो रहा है। वह न कहीं बाहर जा सकते है और न ही घर से बाहर निकल सकते है। 

यह है चीन के 22 शहर जहां लगा हुआ है सख्त लॉकडाउन

बता दें कि, चीन का 22 शहर  वियतनाम की सीमा से करीब 62 मील यानि 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और शुक्रवार को ही कोरोना का पहला मामला सामने आया है। यह मरीज नए साल का जश्न मनाने शहर आया था और उसके जरिए कई लोगों को कोरोना हो गया। कोरोना फैलते ही चीन ने वियतनाम और म्यांमार की सीमा पर काफी सख्ती बढ़ा दी है और अवैध प्रवासियों को रोकने के लिए चीन ने  अपनी दक्षिणी सीमा पर भारी रूप में तार की जाली भी बिछा दी है। डेल्टा और ओमिक्रोन के मामले तेजी से बढ़ने के कारण चीन में लाखों लोगों को घर के अंदर जेल की तरह कैद रहने पर मजबुर होना पड़ रहा है।चीन के सोशल मीडिया वीबो में कई ऐसी वीडियो वायरल हो रही है जिसमें दिखाया जा रहा है कि, लोग खाने के लिए तरस गए है। किसी के पास खाने को लेकर कुछ नहीं है। वहीं अधिकारियों की सख्ती के कारण लोग अपने घर से बाहर भी नहीं निकल सकते है। आपको बता दें कि, चीन के शीआन शहर के करीब एक कोरड़ 30 लाख लोग अभी भी घरेलू कैद में बंद है।