इमरान खान सरकार ने लगाया गर्भनिरोधक पर टैक्स, भड़के बिलावल भुट्टो ने कहा- एक खिलाड़ी से ऐसी उम्मीद न थी

इमरान खान सरकार ने लगाया गर्भनिरोधक पर टैक्स, भड़के बिलावल भुट्टो ने कहा- एक खिलाड़ी से ऐसी उम्मीद न थी

इमरान खान पर हमला जारी रखते हुए बिलावल भुट्टो ने कहा कि पूरी दुनिया गर्भनिरोधक को बढ़ावा दे रही है और पाकिस्तान में इस पर टैक्स लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश में एचआईवी और एड्स का भी संकट है।

पाकिस्तान लगातार आर्थिक कलियों से जूझ रहा है। यही कारण है कि पाकिस्तान की इमरान खान की सरकार कई चीजों पर टैक्स बढ़ा रही है। इन सबके बीच खबर यह भी है कि इमरान खान की सरकार ने कंडोम सहित गर्भनिरोधक उत्पादों पर टैक्स बढ़ाने की तैयारी कर ली है। इसी को लेकर इमरान खान के सरकार पर पाकिस्तान के प्रमुख विपक्षी दल पीपीपी के नेता बिलावल भुट्टो ने जबरदस्त तरीके से निशाना साधा है। उन्होंने इमरान खान पर हमला करते हुए कहा कि पीटीआई सरकार ने कंडोम पर भी टैक्स लगा दिया है। एक खिलाड़ी से ऐसी उम्मीद तो ना थी। अपने बयान में बिलावल ने कहा कि गर्भनिरोधक पर भी टैक्स लगाए गए हैं, इमरान खान जैसे खिलाड़ी से इस तरह की उम्मीद नहीं थी।

इमरान खान पर हमला जारी रखते हुए बिलावल भुट्टो ने कहा कि पूरी दुनिया गर्भनिरोधक को बढ़ावा दे रही है और पाकिस्तान में इस पर टैक्स लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश में एचआईवी और एड्स का भी संकट है। इसके साथ ही बिलावल भुट्टो ने यह भी कहा कि पाकिस्तान, बांग्लादेश, भारत में जनसंख्या विस्फोट हो रहा है। हम ना तो उनके खाने-पीने रोजगार और शिक्षा की दिशा में पूरा बंदोबस्त कर सकते हैं। आपको बता दें कि इमरान खान सरकार वित्त विधेयक 2021 लाई थी। इस विधेयक के जरिए पाकिस्तान सरकार 144 सामानों पर 17% की दर से जीएसटी लगाकर कई अरब रुपए वसूलना चाहती है।

इमरान खान सरकार के वित्त विधेयक पर हमला बोलते हुए बिलावल ने कहा कि इसके माध्यम से सरकार कारों, पेट्रोल, साइकिल, मोटरसाइकिल, मोबाइल, फोन, इंटरनेट, लैपटॉप और प्रीपेड कॉलिंग पर भी टैक्स बढ़ाना चाहती है। इन सब के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि कोविड-19 महामारी और अन्य चुनौतियों के बावजूद इस साल अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर चार फीसदी से अधिक रहने की संभावना है। प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी बयान के मुताबिक इमरान ने अपने आर्थिक सलाहकार समूह के साथ एक बैठक में कहा कि पाकिस्तान की आर्थिक वृद्धि दर तमाम चुनौतियों के बावजूद अच्छी रहेगी। इस बैठक में पाकिस्तान की समग्र आर्थिक परिस्थितियों का आकलन किया गया। पिछले तीन वर्षों में इमरान सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों और उपलब्धियों पर भी इस बैठक में गौर किया गया।