वैक्सीन नहीं लगाई तो 21 दिनों का क्वारंटाइन, खेल के दौरान संक्रमित होने पर होगा ये परिणाम, बीजिंग ओलंपिक के लिए चीन ने की बड़ी तैयारी

वैक्सीन नहीं लगाई तो 21 दिनों का क्वारंटाइन, खेल के दौरान संक्रमित होने पर होगा ये परिणाम, बीजिंग ओलंपिक के लिए चीन ने की बड़ी तैयारी

चीन ओलंपिक में शामिल होने वाले हजारों खिलाड़ियों और स्टाफ को विशालकाय बायो बबल के अंदर सील करने की तैयारी कर रहा है। कोरोना से लड़ने के लिए चीन ने 200 किलोमीटर का विशाल बायो बबल तैयार किया है। इसके अलावा बीजिंग पहुंचने के दौरान से लेकर ओलंपिक के दौरान संक्रमित होने की स्थिति तक के इंतजाम किए गए हैं।

बीजिंग विंटर ओलंपिक की शुरुआत चार फरवरी से हो रही है। इसमें लगभग 5000 से ज्यादा एथलीट, सपोर्ट स्टाफ और मीडिया के लोग शामिल हो सकते हैं। बीजिंग पहुंचने से लेकर वहां से निकलने तक सभी लोग सख्त बायो बबल में रहेंगे। चीन ने बीजिंग ओलंपिक को लेकर अपनी तैयारी तेज कर दी हैं। विंटर ओलंपिक के लिए चीन ने जीरो कोविड नीति का पालन कर रही है। चीन ओलंपिक में शामिल होने वाले हजारों खिलाड़ियों और स्टाफ को विशालकाय बायो बबल के अंदर सील करने की तैयारी की है। कोरोना से लड़ने के लिए चीन ने 200 किलोमीटर (120 मील) का विशाल बायो बबल तैयार किया है। इसके अलावा बीजिंग पहुंचने के दौरान से लेकर ओलंपिक के दौरान संक्रमित होने की स्थिति तक के इंतजाम किए गए हैं। 

कैसा होगी टेस्टिंग?

सभी एथलीटों, टीम के अधिकारियों, कर्मचारियों और पत्रकारों को चीन जाने से पहले दो हालिया नेगेटिव रिपोर्ट दिखाने होंगे। ओलंपिक स्थलों पर जाने से पहले हवाई अड्डे पर उनकी फिर से टेस्टिंग होगी। खेलों के दौरान, पीसीआर प्रयोगशाला परीक्षणों के लिए सभी के गले के स्वैब के नमूने लिए जाएंगे, जिसके परिणाम एक दिन के भीतर आ जाएंगे। सभी को पहले से ही टीकाकरण कराना होगा, नहीं तो तीन हफ्ते के लिए कवारंटाइन में रहना होगा।

क्या होगा अगर कोई पॉजिटिव पाया जाता है?

सबसे पहले, एक पुष्टिकरण परीक्षण होगा। जिस किसी में भी कोविड-19 के लक्षण होंगे, उसे अस्पताल जाना होगा। बिना लक्षण वाले लोग आइसोलेशन फैसिलिटी में भेजे जाएंगे। दोनों ही मामलों में, वे तब तक प्रतिस्पर्धा में शामिल होने में असमर्थ होंगे जब तक कि उनकी कोरोना रिपोर्ट दो बार निगेटिव न आ जाए।

चार फरवरी से हो रही ओलंपिक की शुरुआत

आयोजकों ने कहा है कि कचरे को लेकर एक विशेष कर्मचारियों की टीम बनाई गई है। टीम बबल के भीतर ही कचरा इकट्ठा करेगी और उसे ट्रांसफर करेगी। इससे कोरोना का बाहर के लोगों से आने का खतरा कम हो जाएगा। बीजिंग विंटर ओलंपिक की शुरुआत चार फरवरी से हो रही है। इसमें लगभग 5000 से ज्यादा एथलीट, सपोर्ट स्टाफ और मीडिया के लोग शामिल हो सकते हैं। बीजिंग पहुंचने से लेकर वहां से निकलने तक सभी लोग इसी सख्त बायो बबल में रहेंगे। 

आइसोलेशन कितना लंबा होगा? 

ये इस बात पर निर्भर करता है कि लोगों का लगातार रिपोर्ट निगेटिव आ रहा हो और उसमें कोई लक्षण भी न हो। उनका परीक्षण पीसीआर लैब परीक्षणों से किया जाएगा जो वायरस की छोटी मात्रा का पता लगा सकते हैं। इसका मतलब है कि किसी व्यक्ति के  परीक्षण पॉजिटिव आने के बाद वायरस फैलने की संभावना हो सकती है। आइसोलेशन कितने समय तक चल सकता है, इस पर अनिश्चितता चिंता बढ़ा रही है। 

टेस्ट के अलावा और क्या?

बीजिंग ओलंपिक के लिए चिकित्सा विशेषज्ञ पैनल के अध्यक्ष डॉ. ब्रायन मैकक्लोस्की ने कहा बीजिंग वे यह मूल्यांकन करते समय टेस्टिंग के अलावा अन्य कारकों को देखेंगे कि क्या कोई आइसोलेशन छोड़ सकता है। व्यक्ति का पिछला इतिहास क्या है? क्या उन्होंने इससे पहले कोविड हुआ था? क्या उसका पूरी तरह से टीकाकरण हुआ है?आयोजकों ने कहा कि वे वायरस के निम्न स्तर वाले लोगों के लिए आइसोलेशन पर कम कठोर दृष्टिकोण अपनाएंगे। उन्होंने परीक्षण सीमा में ढील दी जिसके लिए आइसोलेशन की आवश्यकता होती है, लेकिन कहा कि वायरस के पता लगाने योग्य स्तर वाले लोगों को अभी भी अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता है, जैसे कि दूसरों के साथ संपर्क सीमित करना और एक के बजाय एक दिन में दो परीक्षण करना। जैसा कि वैज्ञानिकों ने कोविड-19 के बारे में और यह कैसे फैलता है, कई देशों में स्वास्थ्य अधिकारियों ने आइसोलशन आवश्यकताओं में संशोधन किया है। जैसे की अमेरिका में कोई लक्षण नहीं होने की स्थिति में लोग पांच दिनों के बाद आइसोलेशन समाप्त कर सकते हैं। यह देखने के लिए टेस्टिंग किए बिना कि वे निगेटिव हैं या नहीं। लेकिन उन्हें सलाह दी जाती है कि वे यात्रा और उच्च जोखिम वाले अन्य लोगों से बचें।

जांच में संक्रमित पाए गए

आयोजकों ने सोमवार को बताया कि चार जनवरी के बाद से यहां पहुंचे 2,586 एथलीटों, टीम के अधिकारियों और अन्य लोगों में से 39 लोग बीजिंग हवाई अड्डे पर उतरने के बाद हुई जांच में संक्रमित पाए गए। वहीं, 33 अन्य लोग आम जनता से खिलाड़ियों को अलग रखने के लिए बनाई गई ‘बबल’ व्यवस्था में पहुंचने के बाद संक्रमित पाए गए। बयान में इन संक्रमित लोगों की पहचान उजागर नहीं की गई। चीन ने विदेश से आने वाले लोगों के लिए 21 दिनों का आइसोलेशन अनिवार्य किया था, लेकिन ओलंपिक के लिए आने वालों को संक्रमित ना होने की पुष्टि होने पर इस नियम से छूट दे दी थी।