जानिए, 1 फरवरी 2022 से इन तीन प्रमुख बैंकों के नियमों में होंगे ये-ये बदलाव

जानिए, 1 फरवरी 2022 से इन तीन प्रमुख बैंकों के नियमों में होंगे ये-ये बदलाव

यदि आपका खाता बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) में है तो आपके लिए 1 फरवरी 2022 से चेक क्लीयरेंस से जुड़े नियमों में एक नया बदलाव होने जा रहा है। इसके तहत अब उक्त तिथि से किसी भी चेक के पेमेंट के लिए कंफर्मेशन अनिवार्य होगा। यदि कंफर्मेशन नहीं होता है तो चेक वापस कर दिया जाएगा।

क्या आपको पता है कि आगामी 1 फरवरी 2022 से कई बैंक अपने आईएमपीएस ट्रांजेक्शन, चेक क्लीयरेंस और डेबिट अकाउंट ट्रांजैक्शन समेत कई सर्विस पर चार्ज बढ़ाने जा रहे हैं। यदि नहीं तो यह जान लीजिए कि एसबीआई, पीएनबी और बीओबी बैंक अपने कुछ नियमों में भारी बदलाव करने जा रहे हैं, जो अगले 1 फरवरी 2022 से सभी खाताधारकों के लिए एक समान रूप से लागू हो जाएंगे।

बता दें कि सार्वजनिक या निजी बैंक समय-समय पर अपने ही नियमों में बदलाव करते रहते हैं, लेकिन कई बार ग्राहक सही समय पर इन बदलावों से अवगत नहीं हो पाते हैं, जिससे उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ता है। इसलिए यहां पर हम आपको एसबीआई, पीएनबी और बीओबी बैंक में होने वाले बदलावों से अवगत कराएंगे। यूं तो ये बैंक अपने खाताधारकों को अपने नियम बदलने को लेकर कई बार जानकारी दे चुके हैं, फिर भी कई ऐसे लोग हैं जिन्हें इन बदलावों के बारे में पूरी तरह से नहीं पता है। 

ऐसे ही लोगों के लिए हम यहां पर परिवर्तित होने वाले नियमों और उनमें हुए बदलाव के बारे में बता रहे हैं, ताकि आपको अपने बैंकिंग काम काज को निपटाने में कोई परेशानी नहीं हो। हालांकि, यह तय है कि एसबीआई, पीएनबी और बीओबी बैंक द्वारा बदले जा रहे कतिपय नियमों से उनके आम ग्राहकों की जेब पर असर पड़ना लाजिमी है। बताते चलें कि बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) अपने चेक से पेमेंट संबंधित नियम और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई)- पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) अपने ग्राहकों के लिए पैसों के लेनदेन से संबंधित नियमों में बदलाव करने जा रहे हैं।

# एसबीआई से रुपये ट्रांसफर करना अब हुआ महंगा

आगामी 1 फरवरी 2022 से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) खाता धारकों को रुपये ट्रांसफर करना महंगा हो जाएगा। क्योंकि बैंक की वेबसाइट पर जारी विवरण के अनुसार, बैंक ने आईएमपीएस ट्रांजेक्शन में एक नया स्लैब जोड़ा है, जो 2 लाख से 5 लाख रुपये का है। कहने का तात्पर्य यह है कि अब आपको 1 फरवरी से 2 लाख से 5 लाख रुपये के बीच बैंक ब्रांच से आईएमपीएस के माध्यम से रुपये भेजने पर 20 रुपये शुल्क प्लस जीएसटी  देना होगा। इसलिए यदि आप एसबीआई के ग्राहक हैं तो यह जान लीजिये कि आपके लिए रुपये ट्रांसफर करना अब और महंगा हो जाएगा। 

# पीएनबी के ग्राहकों को अब 100-100 रुपये की बजाए देने होंगे 150-250 रुपए

यदि आप पंजाब नेशनल बैंक के ग्राहक हैं तो आपको ये जानना जरूरी है कि आगामी 1 फरवरी 2022 से आपकी किसी किस्त या इन्वेस्टमेंट वाले डेबिट अकाउंट में पैसा जमा न होने की वजह से फेल होता है तो इसके लिए 250 रुपए देने होंगे। जबकि अभी तक यह बैंक आपसे इसके लिए महज 100 रुपए चार्ज लेता है। इसके अलावा, डिमांड ड्राफ कैंसिल करने पर भी बैंक आपसे 150 रुपए वसूलेगा, जिसके लिए फिलवक्त आप सिर्फ 100 रुपए चार्ज देते हैं। इस प्रकार पंजाब नेशनल बैंक द्वारा किये गए इस अप्रत्याशित बदलाव ने उसके ग्राहकों को चिंता में डाल दिया है। 

# बीओबी ने बदले चेक क्लीयरेंस के नियम

यदि आपका खाता बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) में है तो आपके लिए 1 फरवरी 2022 से चेक क्लीयरेंस से जुड़े नियमों में एक नया बदलाव होने जा रहा है। इसके तहत अब उक्त तिथि से किसी भी चेक के पेमेंट के लिए कंफर्मेशन अनिवार्य होगा। यदि कंफर्मेशन नहीं होता है तो चेक वापस कर दिया जाएगा। इस बात की जानकारी देते हुए बैंक ने कहा है कि आप सीटीएस क्लीयरिंग के लिए पॉजिटिव पे की सर्विस का फायदा उठाएं। बताया जाता है कि ग्राहकों की सुरक्षा के मद्देनजर बैंक ने यह फैसला लिया है। वहीं, एक सुविधा भी दी है कि आप मैसेज, इंटरनेट बैंकिंग या एटीएम के माध्यम से भी बैंक को चेक की जानकारी दे सकते हैं। बता दें कि ये अहम बदलाव सिर्फ 10 लाख से ऊपर की रकम वाले चेक के लिए किये गए हैं। अगर आपने इससे कम रकम का चेक किसी को जारी किया है तो फिर आपको इस प्रोसेस से नहीं गुजरना होगा। आप निश्चिंत रहिये।

बहरहाल, यदि आप बैंक से जुड़े किसी काम को करने की सोच रहे हैं तो आपके लिए ये खबर जानना बहुत जरूरी है। वो भी यदि आपका खाता एसबीआई, पीएनबी और बीओबी में है तो ये परिवर्तित नियम आपके बहुत काम की चीज है और अब इसके मुताबिक ही भविष्य में अपना लेन-देन करना चाहिए।