इस धनतेरस पर खरीदें सिर्फ 6 वस्तुएं, घर-आंगन में होगा लक्ष्मी का प्रवेश, जानिए शुभ मुहूर्त


इस धनतेरस 2021 पर खरीदें सिर्फ 6 वस्तुएं, घर-आंगन में होगा लक्ष्मी का प्रवेश, जानिए शुभ मुहूर्त

दिवाली के पूर्व पुष्य नक्षत्र और धनतेरस का दिन खरीदारी का दिन होता है। इस दिन खरीदी गई वस्तु अक्षय फल वाली होती है। धन तेरस पर खासकर 6 वस्तुएं जरूर खरीदना चाहिए क्योंकि इन्हें खरीदना बहुत ही शुभ माना गया है। इन्हें शुभ मुहूर्त में जरूर खरीदें।

1. खरीदें धनिया : धनतेरस पर खासकर धनिया (खड़ा धनिया) खरीदना बहुत ही शुभ होता है। मान्यता है कि ऐसा करने से धन का नुकसान नहीं होता है। किवदंति अनुसार ऐसी मान्यता है कि धनतेरस के दिन मां लक्ष्मी को धनिया अर्पित करने और भगवान धनवंतरि के चरणों में धनिया चढ़ाने के बाद उनसे प्रार्थना करने से मेहनत का फल मिलता है और व्यक्ति तरक्की करता है। पूजा के बाद आप धनिया का प्रसाद बनता है जिसे सब लोगों के बीच वितरित किया जाता है।

2. झाड़ू खरीदें : धन तेरस पर नई झाड़ू खरीदकर उसकी पूजा की जाती है। घर में नई झाड़ू लाने के अलावा आप किसी मंदिर में या किसी सफाईकर्मी को अच्‍छी वाली झाड़ू खरीदकर दान कर सकते हैं। इससे लक्ष्मी माता आप पर प्रसन्न होंगी। ऐसी मान्यता है कि झाड़ू घर से दरिद्रता हटाती है और इससे दरिद्रता का नाश होता है। धनतेरस के दिन घर में नई झाड़ू लाने के बाद इस पर एक सफेद रंग का धागा बांध देना चाहिए। इससे मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है और घर की आर्थिक स्थिति सुधर जाती है।

3. पीली कौड़ियां : धन समृद्धि बढ़ाने के लिए कौड़ियां खरीदकर उसकी पूजा करते हैं और उसे तिजोरी में रखते हैं। कौड़ीयां खरीदें और यदि वे पीली ना हो तो उन्हें हल्दी के घोल में पीला कर लें। बाद में इनकी पूजा कर अपनी तिजोरी में रखें। इसके अलावा इस दिन 13 दीपक जलाएं और घर के सभी कोने में रख दें। आधी रात के बाद सभी दीपकों के पास एक एक पीली कौड़ियां रख दें। बाद में इन कौड़ियों को जमीन में गाड़ देते हैं। ऐसा करने से आपके जीवन में अचानक से धनवृद्धि होगी।

4. पीतल का बर्तन : इस दिन पीतल का बर्तन खरीदना चाहिए क्योंकि पीतल भगवान धन्वंतरी की धातु है। पीतल खरीदने से घर में आरोग्य, सौभाग्य और स्वास्थ्य की दृष्टि से शुभता आती है। पीतल गुरु की धातु है। यह बहुत ही शुभ है। बृहस्पति ग्रह की शांति करनी हो तो पीतल का इस्तेमाल किया जाता है।

5. नमक खरीदें : धनतेरस से बाजार से नमक का नया पैकेट खरीदकर लाएं और घर में इसी नमक का उपयोग करें। इससे आपके घर में धन समृद्धि बढ़ेगी। थोड़ासा खड़ा नमक भी लेकर आएं और इसे घर के पूर्व और उत्तर दिशा में एक कटोरी में रख दें। इससे वास्तु दोष दूर होगा।

6. सोना- चांदी : इस दिन सोने के आभूषण खरीदने की परंपरा भी है। सोना भी लक्ष्मी और बृस्पति का प्रतीक है इसलिए सोना खरीदने की परंपरा है। इस दिन चांदी खरीदना चाहिए क्योंकि चांदी कुबेर देव की धातु है। इस दिन चांदी खरीदने से घर में यश, कीर्ति, ऐश्वर्य और संपदा में वृद्धि होती है। चांद्र चंद्र की धातु है जो जीवन में शीतलता और शांति को स्थापित करती है।

2 नवंबर धनतेरस 2021 के शुभ मुहूर्त 

त्रयोदशी तिथि समय : द्वादशी प्रात: 11:31 तक उसके बाद त्रयोदशी तिथि प्रारंभ।

योग : त्रिपुष्कर योग

दिन के मुहूर्त :

त्रिपुष्कर योग- प्रात: 06:06 से 11:31 तक। इस योग में भी खरीदारी की जा सकती है।

धनतेरस मुहूर्त- 06 बजकर 18 मिनट और 22 से 08 बजकर 11 मिनट और 20 सेकंड तक का मुहूर्त है। इस काल में पूजा की जा सकती है।

अभिजीत मुहूर्त– सुबह 11:42 से दोपहर 12:26 तक। इस मुहूर्त में खरीदारी की जा सकती है। यह सबसे शुभ मुहूर्त है।

विजय मुहूर्त- दोपहर 01:33 से 02:18 तक।

शाम और रात के मुहूर्त :

गोधूलि मुहूर्त- शाम 05:05 से 05:29 तक।

प्रदोष काल- 5 बजकर 35 मिनट और 38 सेकंड से 08 बजकर 11 मिनट और 20 सेकंड तक रहेगा। इस काल में पूजा की जा सकती है।

धनतेरस मुहूर्त- शाम 06:18:22 से 08:11:20 तक। इस काल में पूजा और खरीदी दोनों ही जा सकती है।

वृषभ काल– शाम 06:18 से 08:14: तक।

निशिता मुहूर्त- रा‍त्र‍ि 11:16 से 12:07 तक।

दिन का चौघड़िया :

लाभ- प्रात: 10:43 से 12:04 तक।

अमृत- दोपहर 12:04 से 01:26 तक।

शुभ- दोपहर 02:47 से 04:09 तक।

रात का चौघड़िया :

लाभ- 07:09 से 08:48 तक।

शुभ- 10:26 से 12:05 तक।

अमृत- 12:05 से 01:43 तक।

धनतेरस की अग्रिम शुभकामनाओं सहित