रोटरी कल्ब गजियाबाद सेंट्रल द्वारा 32 बच्चों को बाटा गया पोषाहार





गाजियाबाद
। एम.एम.जी हॉस्पिटल गाजियाबाद में मंगलवार को राष्ट्रीय क्षयरोग उन्मूलन कार्यक्रम के तहत पोषण वितरण हुआ। रोटरी क्लब ऑफ गाजियाबाद सेन्ट्रल द्वारा आरएचएएम फाउंडेशन तथा डिस्ट्रिक्ट रोटरी हेल्थ अवेयरनेस मिशन के नेतृत्व में गोद लिये गये टीबी रोग से ग्रसित 32 बच्चों को पोषण बांटा गया। पोषण आहार में दाल, चना, दलिया, हॉर्लिक्स, बिस्कुट, फल इत्यादि वितरित किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत मुख्य अतिथी डिस्ट्रिक्ट गर्वनर रो. अशोक अग्रवाल ने किया जिसमें मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा भावतोष शंखधर, जिला क्षय रोग अधिकारी डा. आर.के.यादव, सीएमएस डा अनुराग भार्गव विशिष्ट अतिथी पीडीजी रो.जे.के गौड़ तथा असिस्टेन्ट गर्वनर रो. ए.के. जैन ने भी हिस्सा लिया।

एमएमजी डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल की टीम ने भी पुरा सहयोग किया। टीबी के गोद लिए बच्चों को पोषण बांटकर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया गया। पोषण वितरण कार्यक्रम में डिस्ट्रिक्ट गर्वनर रो. अशोक अग्रवाल ने कहा कि टीबी से ग्रसित बच्चों की रोटरी की तरफ से हर संभव मदद की जाएगी। रोटरी व आरएचएम समय समय पर अभियान चलाकर टीबी के गोद लिए बच्चों को आहार बांटती है। इससे उनमें बीमारी से लड़ने की क्षमता विकसित हो रही है।
पीडीजी रो. जे.के. गौड़ ने बताया कि आरएचएएम हमेशा स्वास्थ्य के प्रति लोगो को जागरूक करता रहता है और हर बिमांरियों में एक दुसरे की सहायता के लिये तत्पर रहता है। समय-समय पर शिविर लगाकर टीबी रागे से ग्रसित बच्चों को पोषण वितरण करने से बच्चों को सम्पुर्ण आहार मिल जाता है।
रोटरी कल्ब इंदिरापुरम गैलोर के प्रधान रो. प्रतीक भार्गव ने बताया कि जो भी पोषाहार वितरित किये जाते वो काफी पोेषक तत्वो से भरपुर होते हैं। टीबी रोग से ग्रसित ज्यादा तर मरीजो को पौष्टिक आहार नही मिल पाता लेकिन आएएचएएम फाउंडेशन के प्रायस से बच्चों तक आहार पहुचाया जाता है। जो कि समाज मे एक सराहनीय कदम है।  
रोटरी क्ल्ब दिल्ली ईस्ट एंड के प्रधान रो. रेनुका झा ने बच्चों को टीबी रोग बचने में बरती जानेे वाली सावधानियां के बारे में बताया और अपील किया कि हमे भारत को टीबी मुक्त बनाना है।  
डिस्ट्रिक्ट रोटरी हेल्थ अवेयरनेस मिशन एंड आरएचएएम के फाउंडर एंड चेयर रो डा धीरज भागर्व ने कहा कि ने कहा कि आरएचएएम और रोटरी के सदस्य लगातार लोगों को क्षयरोग के प्रति जागरूक कर रहे हैं। अगर समय पर इस बीमारी का इलाज हो तो इसके बढ़ते प्रकोप को राकेा जा सकता है। लगातार अभियान चलने से लोगों में बीमारी के प्रति जागरूकता आ रही है। अगर समय पर ईलाज कराया जाए तो टीबी जैसी बीमारी को हराया जा सकता है। उन्होंने टीबी के मरीजों के लिए सरकार की ओर से संचालित विभिन्न योजनाओं पर भी प्रकाश डाला। रो. विनोद अग्रवाल ने बताया कि गोद लिये गये टीबी रोग से ग्रसित बच्चों को समय समय पर पोषाहार मिलता रहता है जिससे बच्चों का भोजन की गुणवक्ता में कोई कमी न रह जाये आरै आगे भी शिविर लगाकर  पोषण वितरण किया जायेगा। कार्यक्रम में अन्य क्लबों का भी सयोग रहा। इस मौके पर रो. रोहित अग्रवाल, रो. मनोज कुमार, दिपाली गुप्ता, रो. अपूर्व राज, राघवेन्द्र चौहान, निधि, विक्रम, संजय आदि मौजूद रहे।