छात्रवृत्ति के आवेदन करने से छूटे विद्यार्थियों को योगी सरकार ने दिया एक और मौका


पहला चरण 25 को समाप्त हो गया और दूसरा चरण 30 नवंबर को समाप्त होगा।
लखनऊ। यदि आप आइटीआइ और पालीटेक्निक या अन्य कोई पढ़ाई कर रहे हैं और शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए आवेदन नहीं कर पाए हैं तो आपके लिए अच्छी खबर हैं। समाज कल्याण विभाग ने शुल्क प्रतिपूर्ति की अंतिम तिथि बढ़ाकर 30 नवंबर कर दी है। 25 अक्टूबर तक आवेदन करने वाले को 30 नवंबर और उसके बाद करने वालों को दिसंबर में शुल्क प्रतिपूर्ति का भुगतान होगा। जिला समाज कल्याण अधिकारी डा. अमर नाथ यती ने बताया कि दो चरण होने की वजह से विद्यार्थियों को फायदा होगा।

पहला चरण 25 को समाप्त हो गया और दूसरा चरण 30 नवंबर को समाप्त होगा। समाज कल्याण विभाग इंटर से लेकर इंजीनियरिंग और डाक्टरी की पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियोंं को शुल्क प्रतिपूर्ति के तहत फीस का भुगतान करता है। सामान्य वर्ग के साथ ही अनुसूचित जाति जनजाति के विद्यार्थियों को इसका लाभ दिया जाता है। विद्यार्थी वेबसाइट scholarship.up.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। पालीटेक्निक और आइटीआइ की प्रवेश प्रक्रिया अभी चल रही है। काउंसिलिंग के बाद प्रवेश होंगे। उनको भी आवेदन का अवसर मिल जाएगा। ऐेसे पांच लाख से अधिक विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा। एक नवंबर से कक्षाओं के संचालन की प्रक्रिया शुरू होगी। इसे लेकर तैयारियां अंतिम चरण में शुरू हो गई हैं। 

वित्तीय विभाग की सहमति के बगैर नहीं हो सकेगा भुगतानः आर्थिक रूप से कमजोर मेधावियों को मिलने वाली शुल्क प्रतिपर्ति के लिए अब आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है। इसके बगैर भुगतान नहीं किया जाएगा। अभी तक आधार न होने की दशा में भी भुगतान कर दिया जाता था। आधार कार्ड को बैंक खाते से लिंक कराना भी अनिवार्य होगा। यही नहीं शुल्क प्रतिपूर्ति के भुगतान के लिए वित्तीय सहमति लेना अनिवार्य होगा। पहले बजट मिलने के साथ ही उतने पैसे का भुगतान विद्यार्थियों के खाते में कर दिया जाता था। आर्थिक कमी के चलते सरकार ने ऐसा निर्णय लिया है।