सुहागिनों ने दूसरे जिलों में जहां बारिश नहीं हो रही थी, वहां पर रहने वाले रिश्तेदारों को वीडियो काल कर चांद देखा और पूजा कर व्रत खोला

 


गाजियाबाद : करवाचौथ की पूजा में रविवार शाम झमाझम बारिश से पूजा में खलल पड़ी। बारिश व आसमान में बादल छाए होने से चांद नहीं दिखा। रात 8:05 बजे चांद निकलने का समय था। ऐसे में सुहागिनों ने दूसरे जिलों में जहां बारिश नहीं हो रही थी, वहां पर रहने वाले रिश्तेदारों को वीडियो काल कर चांद देखा और पूजा कर व्रत खोला। वहीं, झमाझम बारिश के दौरान ट्रांस हिडन में देर रात तक बिजली गुल होने से अंधेरा छाया रहा।

इंदिरापुरम की शिप्रा सनसिटी सोसायटी स्थित बाल वाटिका पार्क में एओए और इनरव्हील क्लब आफ शिप्रा सनसिटी की ओर से बाल वाटिका पार्क में करवा चौथ की पूजा का आयोजन किया गया। इसमें शिप्रा सनसिटी की महिलाओं ने पूजा किया। पूजा के बाद भजन कीर्तन हुआ। मौके पर एओए अध्यक्ष विदा चावरे, इनर व्हील क्लब की अध्यक्ष निरुपमा सिन्हा, इरा राय व अन्य महिलाएं मौजूद रहीं।

वहीं, ज्ञान खंड-चार पार्क स्ट्रीट में शाम को महिलाओं द्वारा संयुक्त रूप करवाचौथ की पूजा की गई। मौके पर आरडब्ल्यूए अध्यक्ष संजय दुबे, संगीता दुबे, सविता, योगिता बालियान, प्रीति व अन्य लोग मौजूद रहे। वहीं, पा‌र्श्वनाथ पैराडाइज सोसायटी के श्री शिव शक्ति मंदिर में बड़ी संख्या में महिलाओं ने पूजा किया। पंडित गिरीश मिश्रा ने करवाचौथ की कथा सुनाई। इन स्थानों पर सामूहिक रूप से महिलाओं ने की पूजा : इंदिरापुरम के स्वर्ण जयंती पार्क, एटीएस एडवांटेज सोसायटी पार्क, न्याय खंड एक स्थित शिवा जी पार्क, वसुंधरा सेक्टर-पांच ओलिव काउंटी, वैशाली सेक्टर छह, वसुंधरा सेक्टर चार आकाश गंगा सोसायटी स्थित पार्क, एसजी होम्स, शालीमार गार्डन, चंद्र नगर समेत अन्य स्थानों पर महिलाओं ने सामूहिक रूप से करवाचौथ की विधि विधान से पूजा की। बहुमंजिला सोसायटियों के फ्लैटों से चांद नहीं दिखाई देता है। ऐसे में उन महिलाओं ने पार्को में जाकर पूजा की। बारिश शुरू होने पर पूजा में भी खलल पड़ी। इसके बाद महिलाएं घर चली गईं और पूजा किया। शाम को वीडियो काल पर या भगवान शिव के मस्तक पर मौजूद चंद्र के दर्शन कर अ‌र्घ्य दिया। बीते वर्ष प्रदूषण ने ढक लिया था चांद : वर्ष 2020 में चार नवंबर को करवाचौथ का पर्व था। इस दिन गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) 451 था। प्रदूषण इतना ज्यादा था कि आसमान में चांद नहीं दिखाई दे रहा था। घंटों तक महिलाएं चांद देखने के लिए परेशान रहीं। इस बार रविवार को एक्यूआइ 204 था, लेकिन बारिश से दिनभर आसमान में बादल छाए रहे। शाम होते ही झमाझम बारिश शुरू हो गई। शाम सात बजे शुरू हुई तेज बारिश देर रात तक होती रही। बारिश के दौरान ट्रांस हिडन के विभिन्न इलाकों में बिजली भी गुल रही। बारिश से ठंड बढ़ गई है। प्रदूषण के स्तर में भी गिरावट दर्ज की जाएगी। पिछले तीन साल में करवा चौथ पर जिले में प्रदूषण का स्तर :

वर्ष एक्यूआइ

2021 204

2020 451

2019 299

(नोट : एक्यूआइ 100 तक सामान्य स्थिति मानी जाती है )